Just Whining

I am just whining today. The blog is the best place to do whining or express my feelings. I am not lucky like many others expressing my feelings at the dining table. I used to talk with only one person who has been gone a long time ago. I have no friends or family members to whom I should express my feelings. Everyone is very busy with their problems. They have nothing to do with my problems. I have seen that other people have bigger problems compares to mine. So, I write down my problems on the blog, and it is up to the readers whether they like to read it or not.
I can’t do whining or complaining at my workplace because I need to show my mature and perfect behavior as being a team leader. A small child and a broken woman always live inside my heart who often fights to come out of me, but I always tell them, “You’ll be safe inside me, so don’t try to come out.”
One principle of my life is, “I leave my personal problems inside my garage while I leave my work or professional issues in the department’s parking lot.”

I keep both personal and business problems separate from each other. However, two years ago, it had become more than a minor problem because I was failed to control my emotions at the workplace. At that time, I had opted out of my work for some time. I have returned to work when I got full control of my emotions. I do not particularly appreciate talking with my colleagues about my personal life. Most of them read my blogs. The old mates like to shares my past with the new colleagues. Many time, I have over heard their gossip about me, “Please ignore her if she gets sassy or moody. Something has happened in her life that has changed her a lot. Otherwise, she is a very nice person, and you just need to get to know her.”

I work in a facility where nobody likes to work because it is a medically underserved area that always lacks appropriate supplies and staff. During the COVID-19 pandemic, the condition has worsened significantly. Every day we have a short staff. Most of the regular nursing staff have quit their jobs and has joined the private nursing agency. I don’t blame them because they get more money to care for fewer patients than regular hospital staff. Agency nurses get paid two times than regular nurses at the hospital, which has caused disappointment and anger among hospital staff. The regular nurse makes around $ 35-40 / hour, and the agency nurse gets paid for the same job around $55-80 / hrs. Therefore, the regular hospital nurses are very frustrated. No nursing administration and executive team are available to listen to their problems. Therefore, I am a victim who faces their problem, and I am not a hospital worker, and I can show only my empathy to them. We are an outsourced medical group that has leased the hospital’s emergency room for just two years. We do not interfere with hospital policies.
Anyway, some nurses will complain for a few minutes and then get busy doing their work. However, one of the nurses, I would call her Eve, worked with me since the last three days. Trust me for this, and it was three days in rows and 12 hours long shifts. All I have heard only her complaints. She complains about everything. I do not know where she gets all the problems or events to complain about it. But on the 4th day, I had lost my patience.

I told her in a very firm voice, “Listen, Eve, I am not your boss. You get paid to work, so please work instead of wasting your energy on all this bullshit whining. I know that you have a problem because of being overworked and underpaid. Trust me. I have a bigger problem than yours because I will need to answer to every one if something goes wrong. I can’t focus while you continue whining in my ears. The dragon continues to dictate your complaints instead of dictating the physical examination of the patient. I will let you decide if you want me to send this dictation to your management which is full of your whining, or I dictate another one in a peaceful environment without your whining, which I will send it to the medical record. I will let you decide it because I do not have time to listen to your whining all day. If you can’t bear the stress, then leave my unit now. Write your complaints on the blog or on the newspaper or express to your supervisor but don’t sing into my ears”
Eve’s face became pale and she said, “I am just try to relieve my stress.”
Well, I emptied my heart in front of EVE, but Eve disappeared from that day, and I heard that she too had joined the nursing agency.
Many of us like to work on the policy, “work smart than working hard.” Well, in my profession, we need to work both smart and hard. We need to use all five senses and also common sense together to deal with critical emergencies. My work ethic and policy are, “Use me or abuse me when I’m around the clock but don’t bother me when my shift is over.”
I call “abuse” when five people standing around me ask many questions, and unfortunately, all those questions are always very important. All say, “I don’t get paid enough to bear this abuse.”

But I love my profession, and I love my staff. The problem will be resolved soon because I couldn’t stop myself from knocking at the door of the administration office.

Expressing your stress or feelings is the best way to stay healthy

मैं आज सिर्फ शिकयत कर रही हूं। अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए एक ब्लॉग सबसे अच्छी जगह है। मैं कई अन्य लोगों की तरह भाग्यशाली नहीं हूं जो डाइनिंग टेबल पर अपनी भावनाओं को व्यक्त करते हैं। मैं केवल एक ही व्यक्ति के साथ बात करती थी जो बहुत पहले जा चुका है। मेरी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए मेरा कोई दोस्त या परिवार का सदस्य भी नहीं है। हर कोई अपनी समस्याओं को लेकर बहुत व्यस्त है। उन्हें मेरी समस्याओं से कोई लेना-देना नहीं है। मैंने देखा है कि अन्य लोगों की समस्याएं मेरी समस्याएं से बड़ी हैं। इसलिए, मैं अपनी समस्याओं को ब्लॉग पर लिख्ती हूं, और यह पाठकों पर निर्भर है कि वे इसे पढ़ना पसंद करते हैं या नहीं।
मैं अपने कार्यस्थल पर शिकायत नहीं कर सकता क्योंकि मुझे एक टीम लीडर के रूप में अपने परिपक्व और सही व्यवहार को दिखाने की जरूरत होती है। अब भी एक छोटा बच्चा और एक टूटी हुई महिला हमेशा मेरे दिल के अंदर रहते है जो अक्सर मुझसे बाहर आने के लिए लड़ते है, लेकिन मैं हमेशा उनसे कहती हूं, “तुम मेरे अंदर सुरक्षित रहोगे, इसलिए बाहर आने की कोशिश कभी मत करना ।”
मैं अपनी पर्सनल समस्याओं को अपने गैरेज के अंदर छोड़ देती हूं, जबकि मैं डिपार्टमेंट की पार्किंग में अपने काम के मुद्दों को छोड़ देती हूं। मैं व्यक्तिगत और व्यावसायिक दोनों मुद्दों को एक दूसरे से अलग रखती हूं। हालांकि, दो साल पहले, यह एक समस्या बन गई क्योंकि मैं कार्यस्थल पर अपनी भावनाओं को नियंत्रित करने में विफल रही । उस समय, मैंने कुछ समय के लिए अपनी नौकरी छोड़ दी थी। मैं तभी लौटी जब मुझे अपनी भावनाओं पर पूरा नियंत्रण कर लिए था। मैं विशेष रूप से अपने निजी जीवन के बारे में अपने सहयोगियों के साथ बात करना पसंद नहीं करती हूं। मेरे ज्यादातर सहयोगी मेरे ब्लॉग को पढ़तें है । पुराने साथी मेरे अतीत को नए दोस्तों के साथ साझा करना नहीं भूलते। कई बार, मैंने आपने बारे में उसकी गपशप सुनी है, “कृपया उसे अनदेखा कर दें यदि वह सैसी या मूडी बन जाती है। उसके जीवन में कुछ ऐसा हुआ है जिसने उसे बहुत बदल दिया है। अन्यथा, वह बहुत अच्छा इंसान है, और आपको उसको जानने की जरूरत है। यदि आप उस पर अपनी दया नहीं दिखाते हैं, तो आप उसके नेतृत्व में काम करना पसंद करेंगे ”।

मैं एक ऐसा हॉस्पिटल में काम करती हूं जहां कोई भी काम करना पसंद नहीं करता है क्योंकि यह एक चिकित्सकीय रूप से पीछरा हुआ क्षेत्र है जिसमें उचित सप्लाई और कर्मचारियों की समस्याओं का अभाव है। COVID-19 महामारी के दौरान से हालत और काफी खराब हो गये है। हर दिन हमारे पास नर्सिंग स्टाफ की कमी होती है। होप्सितल के अधिकांश नियमित नर्सिंग स्टाफ ने अपनी नौकरी छोड़ दी और निजी नर्सिंग एजेंसी में शामिल हो गए। मैं उन्हें दोष नहीं देती क्योंकि उन्हें नियमित अस्पताल के कर्मचारियों की तुलना में कम रोगियों की देखभाल के लिए अधिक पैसा मिलता है। एजेंसी नर्सों को अस्पताल में नियमित नर्सों की तुलना में दो गुना अधिक वेतन मिलता है, जिससे अस्पताल के कर्मचारियों में निराशा और गुस्सा बढ़ रहा है। एक नियमित नर्स की तनखाह $ 35-40 / घंटा है, जब के एक एजेंसी नर्स को $ 55-80 / hrs के आसपास भुगतान किया जाता है। इसलिए नियमित नर्सस निराश हैं।

कोई भी नर्सिंग प्रशासन और एग्जीक्यूटिव टीम उनकी समस्याओं को सुनने के लिए उपलब्ध नहीं है। इसलिए सिर्फ एक मैं बची हूं जो उनकी समस्या का सामना कर रही हूं। और मैं एक अस्पताल कर्मचारी नहीं हूं। मैं सिर्फ उन्हें अपनी सहानुभूति दिखा सकती हूं। हम एक आउटसोर्स मेडिकल ग्रुप हैं, जिसने हॉस्पिटल से इमरजेंसी रूम को सिर्फ दो साल के लिए लीज पर लिया है। हम अस्पताल की नीतियों में हस्तक्षेप नहीं कर सकते हैं,
वैसे भी, कुछ नर्सेस कुछ मिनटों के लिए शिकायत करेंगी और फिर अपना काम करने में व्यस्त हो जाएंगी। हालांकि उनमें से एक नर्स है जिसको में ईव कहूंगी। पिछले तीन दिन उसने लगातार मेरे साथ काम किया। इसके लिए मुझ पर भरोसा करें, यह तीन दिन और 12 घंटे लंबी शिफ्ट्स को मेने कैसे बर्दाश्त किए है । मैंने केवल उसकी शिकायतें सुनी हैं। वह सब के बारे में शिकायत करती है। मुझे नहीं पता कि उसे इसके बारे में शिकायत करने के लिए सभी मामले कहां से मिलते हैं। लेकिन चौथे दिन मैंने अपना धैर्य खो दिया।

मैंने उसे बहुत दृढ़ स्वर में कहा, “सुनो, ईव, मैं तुम्हारी बॉस नहीं हूं। तुम्हें काम करने के लिए भुगतान किया जाता है, इसलिए कृपया इस बकवास पर अपनी ऊर्जा बर्बाद करने के बजाय काम पर इस का इस्तेमाल करें। मुझे पता है कि आप लोग काम अथिक करते हो पर तनखाह बहुत कम है। मुझ पर भरोसा करो। मेरी प्रॉब्लम आप की प्रॉब्लम से भी बड़ी है। क्योंकि मुझे हर एक को जवाब देना होगा अगर कुछ गलत हो जाता है। मैं आपकी की शिकायतें को सुनते हुए अपना ध्यान केंद्रित नहीं कर सकती । ड्रैगन रोगी की शारीरिक जांच की बजाय आपकी शिकायतों को टाइप कर रही है। मैं आपको यह तय करने दूंगी कि क्या आप चाहते हैं कि मैं आपके प्रबंधन को आपकी शिकायतें से भरा हो पेपर भेज दूं , या मैं रोगी के मेडिकल रिकॉर्ड को फिर से टाइप करके इसको मेडिकल रिकॉर्ड में भेज दूं। आपको इसलिए तय करना हैं क्योंकि मेरे पास आपकी शिकायतें सुनने का समय नहीं है। यदि आप तनाव को सहन नहीं कर सकते हैं, तो मेरी यूनिट को छोड़ कर आप जा सकते हो । ब्लॉग पर या न्यूपेपर पर अपनी शिकायतें लिखें लेकिन मेरे कानों में न गाएं। “
ईव का चेहरा पीला पड़ गया और उसने कहा, “मैं तो शिकायतें करके सिर्कअपना दिल हल्का कर रही थी।”
खैर, मैंने तो ईव के सामने अपना दिल खाली कर दिया, लेकिन उस दिन से ईव गायब हो गई। लेकिन बाद मे मैंने सुना के उसने भी नर्सिंग एजेंसी को ज्वाइन कर लिया है।
हम लोगों की अपनी काम करने की नीति हुआ करती हैं, “कड़ी मेहनत न करे बल्कि दिमाग से करे।”
मेरे पेशे में यह ठीक है कि हमें स्मार्ट और कठोर दोनों काम करने की आवश्यकता है। हमें महत्वपूर्ण आपात स्थितियों से निपटने के लिए सभी पांच इंद्रियों और साथ में सामान्य ज्ञान का उपयोग करने की भी आवश्यकता है। मेरी अपनी कार्य नीति है, “जब में काम पर हूं तो मुज़को कोई परवाह नहीं के कितना काम करना है लेकिन जब मेरी शिफ्ट खत्म हो जाती है तो मुझे परेशान न करें।”
मेरे दिल के अंदर तो एक तूफान होता है पर मैं हमेशा शांत रहती हूं। मेरे आसपास खड़े पांच लोग कई सवाल पूछते हैं जिसे मेरे को कोई प्र्ब्लेम नई होती कयूँकै वोह सभी सवाल बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। मैं हमेशा कहती हुं , “मुझे इस स्ट्रेस को सहन करने के लिए कोई अथिक पर्याप्त भुगतान नहीं मिलता ।”
लेकिन मुझे अपनी नौकरी से प्यार है, और मुझे अपने स्टाफ से प्यार है। समस्या का समाधान जल्द ही किया जाएगा क्योंकि मैं खुद को प्रशासन कार्यालय में दस्तक देने से नहीं रोक सकी ।
अपने तनाव या भावनाओं को व्यक्त करना स्वस्थ रहने का सबसे अच्छा तरीका है।

3 thoughts on “Just Whining

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s